फूलगोभी की खेती

परिचय

फूलगोभी की खेती पूरे वर्ष में की जाती है इससे किसान अत्याधिक लाभ उठा सकते है इसको सब्जी, सूप और आचार के रूप में प्रयोग करते है इसमे विटामिन बी प्रयाप्त मात्रा के साथ-साथ प्रोटीन भी अन्य सब्जियों के तुलना में अधिक पायी जाती है

प्रजातियाँ

फूलगोभी की कौन सी उन्नत शील प्रजातियाँ हैं जो बोई जाती हैं?

फूलगोभी की मौसम के आधार पर तीन प्रकार की प्रजातियाँ होती है जैसे की अगेती, मध्यम और पछेती प्रजातियाँ पायी जाती हैं अगेती प्रजातियाँ पूसा दिपाली,अर्ली कुवारी, अर्ली पटना, पन्त गोभी 2, पन्त गोभी 3 पूसा कार्तिक, पूसा अर्ली सेन्थेटिक, पटना अगेती, सेलेक्सन 327 एवं सेलेक्सन 328 है मध्यम प्रकार की प्रजातियाँ पन्त शुभ्रा, इम्प्रूव जापानी, हिसार 114, एस-1, नरेन्द्र गोभी 1, पंजाब जॉइंट ,अर्ली स्नोबाल, पूसा हाइब्रिड 2, पूसा अगहनी, एवं पटना मध्यम, आखिरी में पछेती प्रजातियाँ स्नोबाल 16, पूसा स्नोबाल 1, पूसा स्नोबाल 2, पूसा के 1, दानिया, स्नोकिंग, पूसा सेन्थेटिक, विश्व भारती, बनारसी मागी, जॉइंट स्नोबालI

उपयुक्त जलवायु

फूलगोभी की खेती के लिए किस प्रकार की जलवायु और भूमि की आवश्यकता होती है?

फूलगोभी की खेती प्रायः जुलाई से शुरू होकर अप्रैल तक होती है इसके लिए भूमि हल्की से भारी मिट्टी तक में की जा सकती है प्रायः दोमट और बलुई दोमट भूमि अत्यधिक उत्तम होती है

खेत की तैयारी

फूलगोभी की खेती के लिए भूमि की तैयारी कैसे करें?

खेत की पहली जुताई मिट्टी पलटने वाले हल से करते है इसके बाद दो तीन जुताई देशी हल या कल्टीवेटर से करने के बाद खेत में पाटा लगाकर समतल एवं भुरभुरा कर लेना चाहिए खेत में पानी के निकास का उचित प्रबंध होना अतिआवश्यक हैI

बीज बुवाई

फूल गोभी की बीजदर प्रति हैक्टर और बीज शोधन हमारे किसान भाई किस प्रकार से करें?

इसमे 450 ग्राम से 500 ग्राम बीज प्रति हैक्टर प्रयाप्त होता है बीज बुवाई से पहले 2 से 3 ग्राम कैप्टन या ब्रैसिकाल प्रति किलोग्राम बीज की दर से शोधित कर लेना चाहिए इसके साथ ही साथ 160 से 175 मिली लीटर को 2.5 लीटर पानी में मिलकर प्रति पीस वर्ग मीटर के हिसाब नर्सरी में भूमि शोधन करना चाहिएI

पौधशाला

गोभी के पौधे कैसे तैयार करें?

स्वस्थ पौधे तैयार करने के लिए भूमि तैयार होने पर 0.75 मीटर चौड़ी, 5 से 10 मीटर लम्बी, 15 से 20 सेंटीमीटर ऊँची क्यारियां बना लेनी चाहिए दो क्यारियों के बीच में 50 से 60 सेंटीमीटर चौड़ी नाली पानी देने तथा अन्य क्रियाओ करने हेतु रखनी चाहिए पौध डालने से पहले 5 किलो ग्राम गोबर की खाद प्रति क्यारी मिला देनी चाहिए तथा 10 ग्राम म्यूरेट ऑफ़ पोटाश व 5 किलो यूरिया प्रति वर्ग मीटर के हिसाब से क्यारियों में मिला देना चाहिए पौध 2.5 से 5 सेन्टीमीटर दूरी की कतारों में डालना चाहिए क्यारियों में बीज बुवाई के बाद सड़ी गोबर की खाद से बीज को ढक देना चाहिए इसके 1 से 2 दिन बाद नालियों में पानी लगा देना चाहिए या हजारे से पानी क्यारियों देना चाहिएI

प्रतिरोपण

फूलगोभी की रोपाई कब और कैसे करें?

फसल समय के अनुसार रोपाई एवं बुवाई की जाती है जैसे अगेती में मध्य जून से जुलाई के प्रथम सप्ताह तक पौध डालकर पौध तैयार करके 45 सेन्टी मीटर पंक्ति से पंक्ति और 45 सेन्टी मीटर पौधे से पौधे की दूरी पर पौध डालने के 30 दिन बाद रोपाई करनी चाहिए मध्यम फसल में अगस्त के मध्य में पौध डालना चाहिए पौध तैयार होने के बाद पौध डालने के 30 दिन बाद 50 सेन्टी मीटर पंक्ति से पंक्ति और 50 सेन्टीमीटर पौधे से पौधे दूरी पर रोपाई करनी चाहिए पिछेती फसल में मध्य अक्टूबर से मध्य नवम्बर तक पौध डाल देना चाहिए 30 दिन बाद पौध तैयार होने पर रोपाई 60 सेन्टीमीटर पंक्ति से पंक्ति और 60 सेन्टीमीटर पौधे से पौधे की दूरी पर रोपाई करनी चाहिएI

जल प्रबंधन

फूलगोभी की सिचाई कब और कैसे करें?

पहली सिचाई पौध रोपण के तुरन्त बाद हल्की करनी चाहिए इसके पश्चात आवश्यकतानुसार 10 से 15 दिन के अन्तराल पर सिचाई करते रहना चाहिएI

पोषण प्रबंधन

फूलगोभी की फसल में खाद और उर्वरको का प्रयोग कब और कैसे किया जाए?

देखिए, किसान भाईयों फूलगोभी की अगेती फसल की अपेक्षा पिछेती फसल में खाद और उर्वरको की अधिक आवश्यकता पड़ती है इसकी अच्छी पैदावार प्राप्त करने के लिए 250 से 300 कुन्तल सड़ी गोबर की खाद या कम्पोस्ट खाद डालना आवश्यक होता है 120 किलोग्राम नाइट्रोजन, 60 किलोग्राम फास्फोरस तथा 60 किलोग्राम पोटाश तत्व के रूप में प्रयोग करना चाहिए गोबर की खाद को खेत तैयार करते समय मिला देना चाहिए

खरपतवार प्रबंधन

फूलगोभी की खेती में खरपतवार का नियंत्रण किस प्रकार से करना चाहिए?

खरपतवार नियंत्रण के लिए 2 से 3 निराई गुड़ाई करनी चाहिए पौध की रोपाई से पहले वासालिन 48 ई सी 1.5 किलोग्राम मात्रा प्रति हैक्टेयर के हिसाब से प्रयोग करना चाहिएI

रोग प्रबंधन

फूलगोभी की खेती में फसल सुरक्षा कैसे करनी चाहिए?

फसल सुरक्षा दो प्रकार की होती है पहला रोग नियंत्रण और दूसरा कीट नियंत्रण रोग नियंत्रण में पौध गलन या डंपिंग आफ जनक की बीमारी पीथियम नामक फफूंदी से होती है इससे बीज अंकुरित होते ही पौधे संक्रामित हो जाते है इसका नियंत्रण बीज बुवाई के पहले बीज शोधन करके बोना चाहिए जैसे की 2.5 से 3 ग्राम थीरम या इग्रोसिन जी एन से प्रति किलोग्राम बीज को शोधन कर लेना चाहिए दूसरा है ब्लैक राट जीवाणु काला सडन इसमे पत्तियों पर सबसे पहले अग्रेजी के वी आकार के नमी युक्त हरे भाग बनाते है जो की बाद में भूरे तथा बाद में काले होकर मुरझा जाते है इसका नियंत्रण पौधे के अवशेष एकत्र करके जला देना चाहिए इसके साथ ही साथ बीज की बुवाई बीज शोधित करके करनी चाहिए 10% ब्लीचिंग पाउडर अथवा प्लांटोमाईसिन् ईस्ट्रैपटोसाएक्लीन 100 पी.पी.एम. 1 ग्राम दवा 10 लीटर पानी घोलकर बीज को डुबोकर बुवाई करनी चाहिए रोगों के साथ-साथ इसमें कीट भी लगते हैं जैसे की गिराट या सूंड़ी यह गिराट पत्तियां कहती हैं. इसके लिए नियंत्रण 5% अलसोन या मेलथिन अथवा 10% कार्बोलाल धुल पाउडर का 20-25 किलोग्राम की दर भुरकाव या डस्टिंग प्रति हेक्टेयर की दर से करना चाहिए

फसल कटाई

फूलगोभी की कटाई कब करें सही समय क्या है?

फूलगोभी की कटाई उस समय करनी चाहिए जब फूल उचित आकार के ठोस दिखाई देने लगे फूलगोभी या हेड को नीचे से काटना चाहिए जिससे की ले जाने ले आने में फूल की रक्षा बनी रहे फूलो की कटाई हमेशा सुबह या शाम करनी चाहिएI

पैदावार

फूलगोभी की उपज प्रति हैक्टर कितनी मात्रा में प्राप्त कर सकते है?

इसकी उपज 300 से 400 कुन्तल प्रति हैक्टर फूलो का वजन बाजार में ले जाने हेतु प्राप्त होता हैI

33 Comments

  • Niice post. I was checking continuously this blog and I’m impressed!

    Very useful information specially the last part 🙂 I care for such info a lot.
    I wass looking for tgis particular information for a long time.
    Thank you and best of luck.

  • Well composed articles like yours renews my faith in today’s writers.You’ve written infotmation I can finally agree on andd also use.Many thanks for sharing.

  • Fabulous, what a web site it is! This web site
    proviees useful data to us, keep it up.

  • I got this site from my pal who shared with me concerning this
    website and now this time I am browsing this website and reading
    very informative articles or reviews at this
    place.

  • Hi there to every body, it’s my first go to ssee of this webpage; this webpage contains amazing
    and really excellent data inn support off
    readers.

  • I’m very hapy to discover this page. I need to to thank you for
    ones time just for this fantastic read! I definitely really liked evry little bit of it and
    I have you bookmarked to check out new things
    in your blog.

  • Your mode of describing all in this piece of writing
    iis in fact pleasant, all be capable of simply be aware of it,
    Thanks a lot.

  • It’s not my first time too go to see this
    web page, i am visiting this web site very often and take good facts from here.

  • Would ove to perpetually get updated outstanding web
    blog!

  • Ohh, its fastidious discssion about this article here
    at this web site, I have read all that, so now me also commenting at this place.

  • This is the perfect blog for anybody who hopes to find out about this topic.
    You definitely put a brand new spin on a topic which has been discussed
    for decades.Wonderful stuff, justt excellent!

  • Hello! Do you use Twitter? I’d like to follow you if that would be okay.
    I’m definitely enjoying your blog annd look forward too new articles.

  • Hello there!Would you mind if I share your blog with
    my twitter group? There’s a lot of people that I think would really appreciate your
    content.Please let me know. Thanks!

  • Ohh, its fastidious discussion about this article here at this
    web site, I have read all that, so now mee also commenting
    at this place.

  • DavidGak

    To use this feature, you need to be logged in to GameFAQs. Please log in or register to continue. You awake in a sanctuary of steel and concrete, built to honor the Nordic Gods and to house an artifact, buried in the earth aeons ago. Unveil the secrets of the inhabitants, the artifact, and the nine realms of Yggdrasil in Apsulov: End of Gods. Via local criminal networks, some contractors are threatened or corrupted into smuggling contraband to prisoners. Master’s Thesis Havocado is a silly hyper-speed multiplayer physics fighting game; shoot, punch, drive, and use magic to knock the other players off in a multitude of locations and scenarios. https://wiki-planet.win/index.php/Good_online_chess_app In the “standard” model, there is a primary $\color$ and a bunch of generators $, $\color$, etc.$. In AdVenture Capitalist these are the investments generating cash. In Clicker Heroes these are the heroes generating damage, which is then converted into gold. Sign in to add this item to your wishlist, follow it, or mark it as not interested $100 GIFT CARD GIVEAWAY AT 5k SUBSCRIBERS! Don't be afraid to disassemble heroes at the altar. Generally, you will want to get rid of all your 1-and 2-star heroes as a rule of thumb, but there are many occasions where it is beneficial to get rid of 4-star heroes that you don't plan to use.

  • It is not my first time to go to see this
    website, i am visiting this web page dailly and take good information from here
    all the time.

  • What’s up, I wish for to subscribe for this blog
    to take most recent updates, so where caan i do it please help out.

  • Hello! Do you use Twitter? I’d like to follow you if that would be okay.

    I’m definitely enjoying your blog and look forward too new articles.

  • Would love to perpetually get updated outstanding web blog!

  • Well composed articles like yours renews my faith in today’s writers.You’ve written information I can finally agree on and also use.Many thanks for sharing.

  • Please keep us up to date like this. Thanks for sharing…

  • Very good info. Lucky me I discovered your blog by accident.
    I have book-markedit for later!

  • You nesed tto take prt in a contest for one of thee most
    useful websites online. Iwill recommend this site!

  • Hello to eevery one, sknce I am genuinely keen of readikng this website’s post to bbe updated regularly.
    It carfies nice data.

  • Hello all, here every person is sharing such know-how, so it’s pleasant to read this website, and I used to go
    to see this website daily.

  • Hello, after reading this amazing article i am as well happy too suare my familiarity here with mates!

  • Great delivery. Great arguments. Keeep up the amazing spirit.

  • Excellent post. I was checking continuously this blog and I am impressed!
    Extremely useful information. I care for such information a lot.
    I was looking for this certain information for a
    very long time.Thank youu and good luck.

  • Wow cuz this is great work! Congrats aand keep it up!

  • It is not my first tjme too go to see this website,
    i am visiting this webb paage daully and take good information from
    heee all the time.

  • Hello! I wish to say tht this post is awesome, great writtern and come with approximately all
    important infos. I’d like to look extra posts like
    this! 🙂

  • Way cool! Some vvery valid points! I appreciate you penning
    this post and the rest of the website is also really good.

  • As a Newbie, I am permanently exploring online for articles that can aid me. Thank you

Leave a Reply